भाजपा की गिरती शाख को बचाने के लिए एजेंसियों ने फिर खेला आतंक का कार्ड

  आरिज़ के पहले से ही सुरक्षा-खुफिया एजेंसियों की गिरफ्त में होने की थी आशंका मुकदमें के दौरान होने वाली गिरफ्तारियों से पुलिस को मिलता है अपनी कहानी को दुरूस्त करने का मौका लखनऊ, 15 फरवरी 2018। रिहाई मंच ने दिल्ली स्पेशन सेल द्वारा 13 फरवरी को इंडियन मुजाहिदीन के कथित आतंकी आरिज़ खान की गिरफ्तारी को संदिग्ध बताते हुए उसके पहले से ही सुरक्षा-खुफिया … Continue reading भाजपा की गिरती शाख को बचाने के लिए एजेंसियों ने फिर खेला आतंक का कार्ड

नीतीश कुमार के नाम खुली चिट्ठी- Dilip C Mandal

  नीतीश जी, आप 2005 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। आपने बिहारियों को यह सपना दिखाया कि बिहार जो बहुत बदहाल है, उसे आप ठीक कर देंगे। आपके 2005 के घोषणापत्र में टर्नअराउंड शब्द है। आपने शिक्षा और स्वास्थ्य में चमत्कारिक बदलाव का वादा किया। उस समय की आपकी पार्टनर बीजेपी का भी यही वादा था। नीतीश जी, इस पत्र के माध्यम से … Continue reading नीतीश कुमार के नाम खुली चिट्ठी- Dilip C Mandal

देश को तेजबहादुर यादव का सम्मान करना चाहिए। वह जली रोटी का हक़दार नहीं है। वह हमारा रक्षक है। – Dilip Mandal

देश अगर इन जवानों का एहसानमंद है, जो कि होना चाहिए, तो उनकी तनख़्वाह बढ़ाए। उचित पेंशन दे। उनकी सुविधाओं का ख़्याल रखे।

उनकी सेवादार यानी अर्दली की ड्यूटी बंद हो। जिनके हाथ में मशीनगन होती है, वे लोग अफ़सरों के घरों में कुत्ते टहलाते शोभा नहीं देते।

देश को तेजबहादुर यादव का सम्मान करना चाहिए। वह जली रोटी का हक़दार नहीं है। वह हमारा रक्षक है। Continue reading देश को तेजबहादुर यादव का सम्मान करना चाहिए। वह जली रोटी का हक़दार नहीं है। वह हमारा रक्षक है। – Dilip Mandal

जब सरकार में नहीं रहते तब माया-मुलायम को याद आते हैं जेलों में बंद बेगुनाह मुस्लिम

जब सरकार में नहीं रहते तब माया-मुलायम को याद आते हैं जेलों में बंद बेगुनाह मुस्लिम- राजीव यादव आतंकवाद के नाम पर बेगुनाहों की गिरफ्तारी में रिकाॅर्ड बनाने की होड़ रही है सपा और बसपा में- रिहाई मंच लखनऊ 31 अगस्त 2016। रिहाई मंच ने आजमगढ़ में बसपा प्रमुख मायावती द्वारा आतंकवाद के नाम पर बेगुनाह मुस्लिमों की गिरफ्तारी पर दिए बयान पर तीखी टिप्पड़ी … Continue reading जब सरकार में नहीं रहते तब माया-मुलायम को याद आते हैं जेलों में बंद बेगुनाह मुस्लिम