Hansal Mehta presents : Reach For The Stars – Rohith Vemula’s Last Words

  Rohith Vemula’s last words. An important document of our times. The first in a series of monologues. We are currently in a time where showcasing myself as a filmmaker is irrelevant. The freedoms and rights guaranteed by our constitution are being taken away from us by polarising forces. Rohith’s letters express the anguish of a nation at the threshold of revolt against these forces. … Continue reading Hansal Mehta presents : Reach For The Stars – Rohith Vemula’s Last Words

मैंने तेरा खत पढ़ा – Swanand Kirkire

मैंने तेरा खत पढ़ा और रहा में चुप खड़ा तू आया रोया मर गया तू लड़ गया सूली चढ़ा सितारों की तू धुल था तू जंगलों का फूल था मैं सदियों का फंसा हुआ मैं सदियों का धंसा हुआ सड़ा हुआ सही मगर मेरा भी एक उसूल था विज्ञान मेरी जेब में और ज्ञान मेरे सर चढ़ा वो तुझको ना बचा सका जो कुछ भी … Continue reading मैंने तेरा खत पढ़ा – Swanand Kirkire