मैंने तेरा खत पढ़ा – Swanand Kirkire

मैंने तेरा खत पढ़ा और रहा में चुप खड़ा तू आया रोया मर गया तू लड़ गया सूली चढ़ा सितारों की तू धुल था तू जंगलों का फूल था मैं सदियों का फंसा हुआ मैं सदियों का धंसा हुआ सड़ा हुआ सही मगर मेरा भी एक उसूल था विज्ञान मेरी जेब में और ज्ञान मेरे सर चढ़ा वो तुझको ना बचा सका जो कुछ भी … Continue reading मैंने तेरा खत पढ़ा – Swanand Kirkire

झूठ कि रोहित ने उत्पीड़न से परेशान हो आत्महत्या की – Mayank Saxena

पहला झूठ ये था कि रोहिथ ने उत्पीड़न से परेशान कर आत्महत्या की… दूसरा झूठ ये था कि रोहिथ का कोई उत्पीड़न हो भी रहा था… तीसरा झूठ था कि रोहिथ को किसी केंद्रीय मंत्री के कहने पर निष्कासित किया गया… चौथा झूठ था कि रोहिथ को एबीवीपी के दबाव में निष्कासित किया गया… पांचवा झूठ था कि रोहिथ को निष्कासित किया गया… छठा झूठ … Continue reading झूठ कि रोहित ने उत्पीड़न से परेशान हो आत्महत्या की – Mayank Saxena