गीता पर खतरनाक राजनीति -(कॅंवल भारती)

तवलीन सिंह वह पत्रकार हैं, जिन्होंने लोकसभा चुनावों में नरेन्द्र मोदी के पक्ष में लगभग अन्धविश्वासी पत्रकारिता की थी। लेकिन अब वे भी मानती हैं कि ‘मोदी सरकार ने जब से सत्ता सॅंभाली है, एक भूमिगत कट्टरपंथी हिन्दुत्व की लहर चल पड़ी है।’ उनकी यह टिप्पणी साध्वी निरंजन ज्योति के ‘रामजादे-हरामजादे’ बयान पर आई है। लेकिन इससे कोई सबक लेने के बजाए यह भूमिगत हिन्दू … Continue reading गीता पर खतरनाक राजनीति -(कॅंवल भारती)

अहिंसक विरोध प्रदर्शन मनुष्य का मौलिक अधिकार है – अमीर रिज़वी

अहिंसक विरोध प्रदर्शन मनुष्य का मौलिक अधिकार है विरोध का माध्यम और विरोध का रूप विरोध करने वाले स्वयं चुनते आए हैं किसी भी विरोध प्रदर्शन का तात्पर्य होता है कि प्रदर्शनकारियों की आवाज़ उन तक पहुंचे जो कानून/ व्यवस्था/ सरकार इत्यादि के अधिकारी हैं. जब जब बड़ी ताक़तों का और दबंगों का विरोध हुआ है वे विरोध के रूप को अधर्म, अनैतिक, संस्कार के … Continue reading अहिंसक विरोध प्रदर्शन मनुष्य का मौलिक अधिकार है – अमीर रिज़वी

Hatred and Bloodshed to win Votes – Teesta Setalvad

Opinion Polls way ahead of the next general elections predictedthree things: a sharp decline in the popularity of the ruling UPA, the failureof India’s main opposition to pick upsuccessfully on this disillusionment of the voter, and finally therefore a hugeuncertainty on what shape the next government will take and who will head it. The main opposition party, desperate to grab power, by fair meansor foul, … Continue reading Hatred and Bloodshed to win Votes – Teesta Setalvad