नीतीश कुमार के नाम खुली चिट्ठी- Dilip C Mandal

  नीतीश जी, आप 2005 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। आपने बिहारियों को यह सपना दिखाया कि बिहार जो बहुत बदहाल है, उसे आप ठीक कर देंगे। आपके 2005 के घोषणापत्र में टर्नअराउंड शब्द है। आपने शिक्षा और स्वास्थ्य में चमत्कारिक बदलाव का वादा किया। उस समय की आपकी पार्टनर बीजेपी का भी यही वादा था। नीतीश जी, इस पत्र के माध्यम से … Continue reading नीतीश कुमार के नाम खुली चिट्ठी- Dilip C Mandal

शुभ नहीं हैं 2016 के संकेत!

Nov 07 बिहार में सबकी साँस अटकी है! क्योंकि इस चुनाव पर बहुत कुछ अटका और टिका है! राजनीति से लेकर शेयर बाज़ार तक सबको बिहार से बोध की प्रतीक्षा है! किसी विधानसभा चुनाव से शेयर बाज़ार इतना चिन्तित होगा, कभी सोचा नहीं था. लेकिन वह इस बार वह बहुत चिन्तित है. इतना कि देश की तीन बड़ी ब्रोकरेज कम्पनियों ने ख़ुद अपनी टीमें बिहार … Continue reading शुभ नहीं हैं 2016 के संकेत!

ओपिनियन बता नहीं बना रहा है मीडिया: अभिषेक पाराशर

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की ‘लहर’ इन दिनों मीडिया में सबसे बड़ा मुद्दा है, खासकर इलेक्ट्रॉनिक टीवी चैनलों में जहां पर प्राइम टाइम के दौरान होने वाली बहस में तथाकथित सर्वेक्षणों के आधार पर यह बताने की कोशिश की जा रही है कि देश में मोदी की लहर है। लेकिन यह समझना जरूरी है कि जनमत निर्माण में … Continue reading ओपिनियन बता नहीं बना रहा है मीडिया: अभिषेक पाराशर