हम इतने असहज क्यों है सेक्स को लेकर ? -Vishwa Deepak

संदीप के मामले में जो प्रतिक्रियाएं आई हैं, वो बताती हैं कि हमारा समाज कितना पाखंडी है. ‘नैतिकता’ का ढोल पीटने वालों का दिमाग खोलकर देखिए – वहां सेक्स का कल्पना सागर लहराता हुआ मिलेगा. न्यूज़ चैनलों की नैतिकता और इसके संपादकों का हाहाकारी विलाप इसी पाखंड का हिस्सा है. हर न्यूज चैनल में आपको कम से कम 10 लोग ऐसे मिल जाएंगे जिनके आगे … Continue reading हम इतने असहज क्यों है सेक्स को लेकर ? -Vishwa Deepak