मध्यम वर्ग कॉरपोरेट मीडिया द्वारा फैलाई जा रही छदम राष्ट्रवाद और युदौंमाद की धुन पर नाच रहा है – Pradeep Sharma

राजनीतिक असफलताओं को युद्ध की ओट से ढांका नहीं जा सकता .. यह विरोध जितना पाकिस्तान के लिए है उतना ही भारत या किसी भी राष्ट्र के लिए. इस तरह के राष्ट्रवाद की आज इस दुनिया को ज़रूरत नहीं है| सरकार की मंशा को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने और युद्धोन्माद फैलाने वाली भारतीय मीडिया अपराधी है | शांत बैठने को किसी ने नहीं कहा … . .१. … Continue reading मध्यम वर्ग कॉरपोरेट मीडिया द्वारा फैलाई जा रही छदम राष्ट्रवाद और युदौंमाद की धुन पर नाच रहा है – Pradeep Sharma

तुम्हीं चैनल, तुम्हीं पैनल – Dilip Mandal

तुम्हीं चैनल, तुम्हीं पैनल, तुम्हीं एंकर, तुम्हीं विश्लेषक, तुम्हीं पक्ष, तुम्हीं विपक्ष, तुम वादी, तुम्हीं प्रतिवादी, तुम्हीं दक्षिण, तुम्हीं वाम, तुम्हीं ख़ास, तुम्हीं आम, तुम्हीं सेकुलर, तुम्हीं कम्यूनल। साल दर साल, दिन पर दिन, रात दर रात, राष्ट्रीय चैनलों पर सवर्ण एंकर, सवर्ण पैनलिस्ट के साथ पूरे देश पर चर्चा कर रहे हैं। वे आपस में लड़ते हैं और आख़िर में इस देश की बहुसंख्यक … Continue reading तुम्हीं चैनल, तुम्हीं पैनल – Dilip Mandal

मेरे सवाल आप से हैं, आप चुप क्यों हैं? – आपके नाम रवीश की चिट्ठी

फासीवाद की खासियत है कि हर विरोध करने वाले को ही नहीं, हर तर्क करने वाले को ख़तरा समझा जाता है। उसका दमन होता है और इसकी शुरुआत धमकी, गाली-गलौज और फिर मिथ्या प्रचार या छवि खराब करने से होती है। फासीवादी शासक जानते हैं कि छवि खराब करना, हत्या करने से ज़्यादा प्रभावी और आसान तरीका है। लम्बे समय से टीवी पत्रकार रवीश कुमार … Continue reading मेरे सवाल आप से हैं, आप चुप क्यों हैं? – आपके नाम रवीश की चिट्ठी

हिन्दुओं का एक छोटा सा सेक्शन है, जो धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है वो चाहते हैं कि ये देश, हिन्दू देश हो जाये:जस्टिस सावंत

तीस्ता सेतलवाड: जस्टिस सावंत जी, आज हम धर्मनिरपेक्षता के ऊपर सरासर एक हमला देख रहे हैं, राजनीतिक और सामाजिक ताकतों की ओर से…धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान का एक बहुत अहम सिद्धांत है, कौन सी ताकतें हैं, जो इसके ऊपर इस तरह का हमला कर रही हैं? जस्टिस सावंत: आज तो ऐसा दिखता है कि हिन्दुओं का एक छोटा सा सेक्शन है, जो धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है। … Continue reading हिन्दुओं का एक छोटा सा सेक्शन है, जो धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है वो चाहते हैं कि ये देश, हिन्दू देश हो जाये:जस्टिस सावंत

Modi, Media & Terror threats: JTSA

The reporting in the media following the arrest of four youths in Rajasthan, alleged to be Indian Mujahideen operatives, by the Delhi Police Special Cell fell even below the low standards the media has set for itself on terror reporting. Forget about the use of the mandatory ‘alleged’ before calling those arrested as terrorists – one would think it is no longer even on the … Continue reading Modi, Media & Terror threats: JTSA

ओपिनियन बता नहीं बना रहा है मीडिया: अभिषेक पाराशर

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की ‘लहर’ इन दिनों मीडिया में सबसे बड़ा मुद्दा है, खासकर इलेक्ट्रॉनिक टीवी चैनलों में जहां पर प्राइम टाइम के दौरान होने वाली बहस में तथाकथित सर्वेक्षणों के आधार पर यह बताने की कोशिश की जा रही है कि देश में मोदी की लहर है। लेकिन यह समझना जरूरी है कि जनमत निर्माण में … Continue reading ओपिनियन बता नहीं बना रहा है मीडिया: अभिषेक पाराशर

पैसे का लोकतंत्र और पैसे की ख़बरें: भूपेन सिंह

केंद्र की यूपीए सरकार पेड न्यूज़ छापने वाले मीडिया संस्थानों के ख़िलाफ़ कोई कदम उठाने के मामले में तो पहले ही हाथ खड़े कर चुकी है, अब वह चुनावों के दौरान पैसा देकर ख़बर छपवाने वाले नेताओं को बचाने के लिए भी खुलकर सामने आ गई है. सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पेश एक हलफनामे में कहा है कि चुनाव आयोग को किसी जन प्रतिनिधि … Continue reading पैसे का लोकतंत्र और पैसे की ख़बरें: भूपेन सिंह