दादरी का अख़लाक़ – राजेश जोशी की कविता

“दादरी का अख़लाक़” हर हत्या के बाद ख़ामोश हो जाते हैं हत्यारे और उनके मित्रगण. उनके दाँतों के बीच फँसे रहते हैं ताज़ा माँस के गुलाबी रेशे, रक्त की कुछ बूँदें भी चिपकी होती हैं होंठों के आसपास, पर आँखें भावशून्य हो जाती हैं जैसे चकित सी होती हों धरती पर निश्चल पड़ी कुचली-नुची मृत मानव देह को देखकर हत्या के बाद हत्यारे भूल जाते … Continue reading दादरी का अख़लाक़ – राजेश जोशी की कविता

Fact Finding Report – Dadri Beef Rumour Lynching #BeefKilling

New Delhi, 05/10/2015 Team members: Bonojit Hussain (New Socialist Initiative), Deepti Sharma (Saheli), Kiran Shaheen (writer and activist), Naveen Chander (New Socialist Initiative), Sanjay Kumar (People’s Alliance for Democracy and Secularism and New Socialist Initiative) and Sanjeev Kumar (Delhi Solidarity Group) On the night of 28 September, in a heinous instance of hate crime Mdohammad Akhlaq a resident of Bisara village of Dadri in western … Continue reading Fact Finding Report – Dadri Beef Rumour Lynching #BeefKilling