राजनीतिक असफलताओं को युद्ध की ओट से ढांका नहीं जा सकता – Pradeep Sharma

राजनीतिक असफलताओं को युद्ध की ओट से ढांका नहीं जा सकता .. यह विरोध जितना पाकिस्तान के लिए है उतना ही भारत या किसी भी राष्ट्र के लिए. इस तरह के राष्ट्रवाद की आज इस दुनिया को ज़रूरत नहीं है| सरकार की मंशा को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने और युद्धोन्माद फैलाने वाली भारतीय मीडिया अपराधी है | शांत बैठने को किसी ने नहीं कहा … . .१. … Continue reading राजनीतिक असफलताओं को युद्ध की ओट से ढांका नहीं जा सकता – Pradeep Sharma

अबे तेरी तो

वैसे तो मुझे भारत और पाकिस्तान के संबंधों में कई बातें समझ में नहीं आती, लेकिन यह बात बिल्कुल समझ में नहीं आती कि अचानक बैठे बिठाए बात प्यार, मुहब्बत और शांति से शुरु होते होते गाली-गलौज में कैसे बदल जाती है. भारत– हम पाकिस्तान में लोकतंत्र की स्थिरता चाहते हैं. एक मज़बूत पाकिस्तान भारत सहित पूरे दक्षिण एशिया के हित में है. पाकिस्तान– हम … Continue reading अबे तेरी तो

India’s New Tryst with Destiny?: Sherry Rehman

As India turns inwards to its next election, the world watches with a mixture of anxiety and hope. Hope, because India has the capacity to lead South Asia into a less polarised 21st century. And worry in case it takes a turn towards ultra-nationalism and regional drift. With the BJP’s Narendra Modi’s sharp new addition to the election’s chest-thump, anti-Pakistan belligerence has been staked out … Continue reading India’s New Tryst with Destiny?: Sherry Rehman

पाकिस्तान गाली नहीं हैः अपूर्वानंद

लखनऊ के बारहवीं कक्षा के एक छात्र आदित्य ठाकुर ने हाल में विदेश मंत्रालय के सचिव को हाल में  एक पत्र लिखकर तकलीफ जताई  है कि भारत का संचार तंत्र , विशेषकर टेलिविज़न पड़ोसी मुल्कों के खिलाफ नफरत का प्रचार करता है. आदित्य ने यह पत्र ‘इंडिया न्यूज़’ नामक  टी. वी. चैनल  के एक कार्यक्रम से दुखी होकर लिखना तय किया. कार्यक्रम पाकिस्तान में पोलियो … Continue reading पाकिस्तान गाली नहीं हैः अपूर्वानंद

नाउम्मीदी के बीच उम्मीद की एक किरण: वुस्तुल्लाह ख़ान

जब जूते ख़रीदने के भी पैसे न हों और कोई हाशिम ख़ान स्क्वॉश के मैदान पर झंडे गाड़ दे और फिर अगले 52 वर्षों तक उनका परिवार यह झंडा न गिरने दे. जब करोड़ो महिलाएँ अभी केवल सपने में ही विमान उड़ाने का जोखिम कर सकें और कोई शुक्रिया ख़ानम विमान उड़ाने लगे और वह भी आज से 53 वर्ष पहले. जब 80 प्रतिशत महिलाएँ … Continue reading नाउम्मीदी के बीच उम्मीद की एक किरण: वुस्तुल्लाह ख़ान

हिन्दुस्तान-पाकिस्तान ने सच और झूठ को भी आधा-आधा बाँट लिया: वुस्तुल्लाह खान

  मुझे एक रिटायर्ड जनरल ने एक वाक़या सुनाया कि अगस्त 1947 में देहरादून एकेडमी में अचानक यह आदेश आया कि कैडेट फैसला कर लें कि वे भारतीय सेना में रहेंगे या पाकिस्तानी फ़ौज का हिस्सा बनेंगे. मुसलमान कैडेट्स को बताया गया कि उनके लिए पाकिस्तान जाना ज़्यादा उचित रहेगा. उसके बाद उनकी रवानगी के लिए व्यवस्था शुरू होगी. फिर आदेश आया कि देहरादून की … Continue reading हिन्दुस्तान-पाकिस्तान ने सच और झूठ को भी आधा-आधा बाँट लिया: वुस्तुल्लाह खान

झंडा और डंडा: वुसतुल्लाह खान

  क्या आपने तिरंगा ग़ौर से देखा है, ज़रूर देखा होगा. लेकिन कभी आप ने ये सोचने की तकलीफ़ उठाई कि कपड़े के तीन विभिन्न पट्टियों को क्यों जोड़ा गया था और फिर बीच में अशोक चक्र क्यों बना दिया गया. जब पिंगली वेंकैया साहेब ने ये तिरंगा डिज़ाइन किया तो उन्होंने नारंगी पट्टी यह सोचकर ड्राइंग बोर्ड पर बिछाई होगी कि भारत का हर … Continue reading झंडा और डंडा: वुसतुल्लाह खान

भाड़ में जाए ये इज्जत !

(वुसतुल्लाह ख़ान के इस ब्लॉग में पाकिस्तान में बनने वाली एशिया की सबसे बड़ी हाउसिंग सोसायटी बहरिया टाउन का जिक्र है जिसके मालिक रियाज मलिक के टीवी पर एक ‘प्लांटेड इंटरव्यू’ ने पिछले दिनों पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोरीं. दरअसल मुख्य न्यायाधीश इफ्तिखार मोहम्मद चौधरी के बेटे अरसलान इफ्तिखार पर रियाज मलिक से करोड़ों का फायदा हासिल करने के आरोप लगे हैं) यार लानत है … Continue reading भाड़ में जाए ये इज्जत !

पाकिस्तान- अबे तेरी तो…. भारत- अबे तेरी ऐसी की तैसी…..

  वैसे तो मुझे भारत और पाकिस्तान के संबंधों में कई बातें समझ में नहीं आती, लेकिन यह बात बिल्कुल समझ में नहीं आती कि अचानक बैठे बिठाए बात प्यार, मुहब्बत और शांति से शुरु होते होते गाली-गलौज में कैसे बदल जाती है. भारत– हम पाकिस्तान में लोकतंत्र की स्थिरता चाहते हैं. एक मज़बूत पाकिस्तान भारत सहित पूरे दक्षिण एशिया के हित में है.पाकिस्तान– हम … Continue reading पाकिस्तान- अबे तेरी तो…. भारत- अबे तेरी ऐसी की तैसी…..