नब्बे साल के मेरे चाचा जी के पुराने किस्से – हिमांशु कुमार

कल अपने चाचा जी के पास बैठा था, वो पुराने किस्से सुनाने लगे, चाचा जी ने मुझे बताया कि सन चालीस के लगभग की बात है, एक बार तेरे दादा जी मुज़फ्फर नगर में घर के सामने बैठे थे, तभी दुल्ला कसाई एक लंगड़ी गाय लेकर जा रहा था, हमारे घर की भैंस कुछ दिन पहले मर चुकी थी, घर में दूध की दिक्कत थी, … Continue reading नब्बे साल के मेरे चाचा जी के पुराने किस्से – हिमांशु कुमार

My First Roza was in a Durga Pooja Pandal: Amir Rizvi

I don’t remember when I started praying and keeping my Rozas ( the fast during Ramzan). Every child starts aping their parents and I guess I used to do the same. During Ramzan as kids we had the half ticket concept, either fast for half a day “aadhe din ka roza” or the more popular was “aadhe mooh ka roza”: we were allowed to eat … Continue reading My First Roza was in a Durga Pooja Pandal: Amir Rizvi

I don’t know why everyone is asking me to imagine the trauma of Najeeb’s mother and sister. I am Hindu, an upper caste to boot- Deepak Venkatesha

I don’t know why everyone is asking me to imagine the trauma of Najeeb’s mother and sister. I am a majority of the religion Hindu, a upper caste to boot. Why should I imagine their trauma. Arre they are Muslims yaar and they are the minority. They have always stayed in Ghettos. I don’t care that we put them in there the first place. I … Continue reading I don’t know why everyone is asking me to imagine the trauma of Najeeb’s mother and sister. I am Hindu, an upper caste to boot- Deepak Venkatesha

BJP शासित राज्यों में सर्वाधिक “स्लाउटर हाउस”-RTI

नई दिल्ली। यूपी के दादरी कांड के बाद गोरक्षा का मुद्दा देशभर में तेजी से चल रहा है। दादरी के बिसाहड़ा गांव में अखलाक की हत्या के बाद गोरक्षक तेजी से सक्रिय हो गए। देश के अन्य राज्यों में भी गोरक्षा की घटनाएं आने लगीं। किसी को भी पकड़कर गोकशी के आरोप में पीटा जाने लगा। मुस्लिमों के बाद यह आतंक दलितों पर छाने लगा। … Continue reading BJP शासित राज्यों में सर्वाधिक “स्लाउटर हाउस”-RTI

अखंड भारत चाहिए कि नहीं चाहिए?- Dilip Mandal

अखंड भारत में तीनों देशों को मिलाकर मुसलमान लगभग 50 करोड़, SC-ST लगभग 25 करोड़, सिख और ईसाई मिलाकर लगभग 6 करोड़ और बाकी 60 करोड़ लोग होंगे. सवर्ण हिंदू, OBC, बौद्ध, जैन, पारसी इसी 60 करोड़ में शामिल हैं. कुछ कम – ज्यादा होगा. यह सब जनगणना के अनुसार है. गलत है, तो बताएं कि सही क्या है. तो बोलिए प्रेम से… अखंड भारत … Continue reading अखंड भारत चाहिए कि नहीं चाहिए?- Dilip Mandal

A Brief Story of Shuklaji and Rameez’s Namaaz-e-Jumma

26/Aug/2016, 1:40pm: I hurriedly went down from office to catch an auto-rickshaw to reach Masjid for the Friday congregational prayer (“Namaaz-e-Jumma’h”). As soon as I sat in the auto I realised that I had forgotten my wallet in my office in the rush. I requested the auto guy to drop me at the Masjid and wait till I pray (for 15-20 minutes) and drop me … Continue reading A Brief Story of Shuklaji and Rameez’s Namaaz-e-Jumma

सवर्णों का समाज सुधर नहीं रहा है- Dilip Mandal

सवर्णों को जाति के नाम पर नफरत बंद करने का सबक देने के लिए ओबामा या पुतिन नहीं आएंगे. समाज सुधार के लिए यहीं पर किसी को यह काम करना होगा. सवर्ण बुध्दिजीवी, चिंतक, एक्टिविस्ट यह करने को तैयार नहीं हैं. गांधी की तरह वे भी “हरिजनों” को ही जगाना चाहते हैं. हरिजन जाग – जाग कर परेशान है. इतना सामाजिक जागरण हुआ है कि … Continue reading सवर्णों का समाज सुधर नहीं रहा है- Dilip Mandal

रैली खत्‍म, नेता नदारद, हमले तेज़ : ऐतिहासिक यात्रा के बाद टाइम बम पर बैठा गुजरात का दलित समुदाय – Abhishek Srivastava

ऊना रैली की तस्‍वीरों पर चस्‍पां मेरी पिछली टिप्‍पणी पर सत्‍यम जी ने पूछा है कि इस घटना को उसकी तात्‍कालिकता में कम कर के क्‍यों आंका जा रहा है। मेरा जवाब सुनें: ऊना में आज समाप्‍त हुई दलित अस्मिता रैली को उसकी तात्‍कालिकता और दीर्घकालिकता में वे लोग कम कर के आंक रहे हैं जो तस्‍वीरों को देखकर ‘इंकलाबित’ हैं। मुझे कोई गफ़लत नहीं … Continue reading रैली खत्‍म, नेता नदारद, हमले तेज़ : ऐतिहासिक यात्रा के बाद टाइम बम पर बैठा गुजरात का दलित समुदाय – Abhishek Srivastava