कम्पनियों की दलाली के लिये राष्ट्रवाद का नाटक हम नहीं चलने देंगे-Himanshu Kumar

नजीब को पीटने और गायब करने के आरोपी एबीवीपी के लड़कों की पैरवी करने के लिये वकीलों की फर्म लूथरा एण्ड लूथरा ला कंपनी को लगाया गया है, इस कंपनी के वकील भारत के सबसे मंहगे वकील होते हैं, अरुण जेटली साहब व्यक्तिगत रूप से नजीब केस के आरोपियों को बचाने की कार्यवाही की नियमित देखरेख कर रहे हैं, रामजस कालेज में प्रोफेसरों और लड़कियों … Continue reading कम्पनियों की दलाली के लिये राष्ट्रवाद का नाटक हम नहीं चलने देंगे-Himanshu Kumar

गोडसे@गांधी.कॉम – Himanshu Kumar

असगर वजाहत का लिखा हुआ और टॉम आल्टर के ग्रूप द्वारा खेला गया नाटक देखा, नेहरु की भूमिका सरदार फिल्म में नेहरु बने बेंजामिन गिलानी ने ही निभाई, मेरे साथ बैठे एक युवा मित्र ने कहा, यह तो बिल्कुल असली नेहरु लगते हैं ! मैंने उनको बताया कि सरदार फिल्म में नेहरु के रूप में आप सब ने इन्ही को देखा है इस लिये आप … Continue reading गोडसे@गांधी.कॉम – Himanshu Kumar

Gandhi, Aligarh and two minutes of silence- Sehba Imam

I grew up in a fanatically secular home, with no gods but lots of festivals… Still the idea of God and reverence was all around – so, as a child I wasn’t clear who stood for what but knew that some figures were special – Ram, Muhammad, Christ, Gandhi and Lenin, they had to be spoken of with lot of respect and followed as an … Continue reading Gandhi, Aligarh and two minutes of silence- Sehba Imam

JAITLEY CHARGED WITH SEDATION – Vasudevan Narayanpillai

On 20th August, 2016 Arun Jaitley said today that former PM PV Narasimha Rao wasn’t the economic messiah people believe he is, that the UPA neglected productivity, and that the post-independence Nehruvian model led to no development whatsoever. Indian Finance Minister Arun Jaitley said- “That (Nehruvian) model of development was the reason India couldn’t get up to a growth rate of even 1 percent in … Continue reading JAITLEY CHARGED WITH SEDATION – Vasudevan Narayanpillai

सवर्णों का समाज सुधर नहीं रहा है- Dilip Mandal

सवर्णों को जाति के नाम पर नफरत बंद करने का सबक देने के लिए ओबामा या पुतिन नहीं आएंगे. समाज सुधार के लिए यहीं पर किसी को यह काम करना होगा. सवर्ण बुध्दिजीवी, चिंतक, एक्टिविस्ट यह करने को तैयार नहीं हैं. गांधी की तरह वे भी “हरिजनों” को ही जगाना चाहते हैं. हरिजन जाग – जाग कर परेशान है. इतना सामाजिक जागरण हुआ है कि … Continue reading सवर्णों का समाज सुधर नहीं रहा है- Dilip Mandal

Worshipping False Gods: An open letter to fellow Indians

A former Union Minister for External Affairs, Salman Khurshid is a practicing lawyer This letter comes from someone many of you have known, supported in myriad ways, honoured with high office, sometimes challenged for opinions you found uncomfortably out of the box, but always given a sense of belonging. It was for that reason that I wrote the book At Home in India and the … Continue reading Worshipping False Gods: An open letter to fellow Indians