Whose Development? – Irfan Engineer

Prime Minister Narendra Modi often tells his audience that he is working for the development of 1.25 billion Indians. The sub-text is that he would work for development of all Indian regardless of their religion, caste, ethnicity, and regardless of their accident of birth and their cultural heritage. The idea is noble and needs to be fully supported. However, if we apply a bit of … Continue reading Whose Development? – Irfan Engineer

विकास का मतलब ? – Himanshu Kumar

विकास का मतलब ? और भी अमीर हो जाना ? अमीर हो जाना मतलब ? मतलब हमारे पास हर चीज़ का ज़्यादा हो जाना ? मतलब पैसा ज़्यादा ,ज़मीन ज़्यादा, मकान ज़्यादा हो जाना ? हाँ जी ? आपका विकास हो जाएगा तो आपके पास ज़्यादा पैसा आ जाएगा जिससे आप ज़्यादा गेहूं , सब्जियां , ज़मीन वगैरह खरीद सकते हैं . हाँ जी . … Continue reading विकास का मतलब ? – Himanshu Kumar

क्या संबंध है गुजरात के विकास के मॉडेल और दंगे के मॉडेल में?

लोकसभा चुनाव हमेशा ही मनोरंजनप्रद रहा है. और जबसे चौबीसों घंटे चलनेवाले टीवी चैनल आए है ये और भी मज़ेदार हो गया है. इस मनोरंजन में चुनाव भी गैरमामूली हो गया है. टीवी स्टूडियो में बैठे आकाओं ने इसे महज़ दो पुरुषों के बीच का कुश्ती बना दिया है. ये बहुत ध्यान देने की बात है की ना मोदी ना ही गाँधी जनता से जुड़े … Continue reading क्या संबंध है गुजरात के विकास के मॉडेल और दंगे के मॉडेल में?

Mirage of development – LYLA BAVADAM

Social development indicators in Gujarat are poor, proving that development in the State is lopsided. AJIT SOLANKI/AP Chief Minister Narendra Modi speaks at the inauguration of the 6th Vibrant Gujarat Global Summit in Gandhinagar on January 11. On a hot day last November near Rajkot, Ramjibhai Patel, an octogenarian farmer, pointed to the middle distance and said, “See that lake?” There was indeed a shimmer … Continue reading Mirage of development – LYLA BAVADAM