भारत की वंचित जातिः बेतिया के डोम-मेहतर ज़िंदगी गुज़ारने के लिए बांस की बिनाई और मानव मल की सफ़ाई करते हैं

बिहार के बेतिया में दलितों का जीवन जातिवादी नीच काम और भेदभाव के बीच फँसा हुआ है जो सरकार द्वारा उनपर थोपा गया है। डब्लू मलिक पैसा कमाने के लिए शहर जाते हैं और वहाँ सफ़ाई कर्मचारी के रूप में काम करते हैं। बांस से बनी अपनी झोपड़ी के अंदरूनी हिस्से को दिखाते हुए डब्लू मलिक कहते हैं, “हमारे दादा 50 साल पहले परसौना गांव … Continue reading भारत की वंचित जातिः बेतिया के डोम-मेहतर ज़िंदगी गुज़ारने के लिए बांस की बिनाई और मानव मल की सफ़ाई करते हैं

In Ballia In 1981 To Cover the Rape of a Young Dalit Girl

SEEMA MUSTAFA | 31 MAY, 2019     It was 1981. I was a cub reporter in the Indian Express covering crime, plus everything else that took my fancy. It was a delightful period, post Emergency when journalism and journalists were charged with new passion, a “we will not allow any government interference” mood. The Indian Express was a reporters newspaper, never really belonging to … Continue reading In Ballia In 1981 To Cover the Rape of a Young Dalit Girl

दलितों के ऊपर हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ 20 मई को गोरखपुर में अम्बेडकरवादी छात्र सभा

लखनऊ 17 मई 2018. गोरखपुर में 20 मई को तारामंडल रोड सत्यम लान में दलितों के ऊपर बढ़ते हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में हो रहे भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ अम्बेडकरवादी छात्र सभा, वीरांगना उदादेवी समिति और रिहाई मंच ‘आवाज़ सुनो, अधिकार चुनो’ सम्मलेन करेगा. वीरांगना उदादेवी समिति के अध्यक्ष अमर सिंह पासवान और रिहाई मंच प्रवक्ता अनिल यादव ने बताया कि … Continue reading दलितों के ऊपर हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ 20 मई को गोरखपुर में अम्बेडकरवादी छात्र सभा

I celebrate International Women’s day and its not an everyday matter – Rukmini Sen

If you do not say every day is my birthday, if you do not say everyday is Durga Puja, if you do not say every day is Independence day, if you do not say every day is Disability day, if you do not say every day is a day free of violence, restriction and discrimination in the world, do not say every day is women’s … Continue reading I celebrate International Women’s day and its not an everyday matter – Rukmini Sen

योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच

योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच दलितों के ऊपर हमला करने वालों को भाजपा सरकार का खुला संरक्षण- रिहाई मंच लखनऊ 10 जनवरी 2018. रिहाई मंच ने बलिया में दलित युवकों का सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्तियां बांधकर पिटते हुए पूरे क़स्बे में घुमाने की घटना को … Continue reading योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच