बालश्रम उन्मूलन के लिए नया कानून: क्या यह हमारी स्थापित जाती व्यवस्था को बढाने का औजार नहीं है? –किशोर

इस सप्ताह बाल श्रम (प्रतिबंधन एवं विनियमन) अधिनियम,2012 राज्य सभा में पास हो गया. लोकसभा में पास होने के बाद इस कानून को अमली जामा पहनाने के लिए इसके नियम बनाये जायेंगे और यह एक कानून बन जाएगा. इस कानून में कुछ बदलाव सकारात्मक हैं जैसे इसके अंतर्गत बालश्रम रखने को एक संज्ञेय अपराध बनाया गया है तथा इसके लिए अधिक सजा और जुर्माने और … Continue reading बालश्रम उन्मूलन के लिए नया कानून: क्या यह हमारी स्थापित जाती व्यवस्था को बढाने का औजार नहीं है? –किशोर

निशाने पर सहिष्णुता नहीं संविधान है ! – Pankaj Srivastava

    आमिर ने आख़िर क्या कहा, जो ऐसा हंगामा बरपा है? यही न, कि उनकी पत्नी ने हालात से तंग आकर उनसे देश छोड़ने की बात छेड़ी। कहा कि अख़बार देखकर डर लगता है। आमिर ने तो बस इसकी जानकारी दी, वह भी इसे ‘डिज़ास्टरस’ (विनाशकारी) बताते हुए । अगर दिक़्क़त है तो आमिर के नहीं उस किरण के बारे में सोचो जो उदास … Continue reading निशाने पर सहिष्णुता नहीं संविधान है ! – Pankaj Srivastava

There is a concerted effort to change the basic secular character of the Indian Constitution: Justice PB Sawant, former SC Judge

“Some religious fundamentalists want this country to be theocratic, and if it is to be theocratic they want it to be Hindu theocracy.” “They want this country to be a theocratic state and all other religious bodies and communities to be secondary citizens.” “All religious books, whether it is Koran, Bible or Granth Saheb or Avastha, they are all teaching us ethical principles” There is … Continue reading There is a concerted effort to change the basic secular character of the Indian Constitution: Justice PB Sawant, former SC Judge

Former DGP Gujrat’s appeal to remedy elitist lobbyism against the rule of law

Hillele presents here Letter No. 3. RBS/Encounter/3/2013 dated 15-07-2013 written by R.B. SREEKUMAR, IPS (Retd.),Former DGP,Gujarat to the President of India. The subject of the letter was “An appeal to remedy elitist lobbyism against the Rule of Law” We present the letter verbatim here- Respected Rashtrapatiji, I am a former DGP of Gujarat State and I retired form service on 28-02-2007. I have submitted a … Continue reading Former DGP Gujrat’s appeal to remedy elitist lobbyism against the rule of law