विनोद वर्मा हिरासत में – Rakesh Kayasth

पत्रकार के तौर पर मैं विनोद वर्मा को लंबे समय से जानता हूं। मेरे परिचय उस वक्त से है, जब वर्माजी दिल्ली में मध्य प्रदेश से निकलने वाले अखबार देशबंधु अखबार के ब्यूरो चीफ हुआ करते थे। मैने उन्हे हमेशा एक संजीदा, संवेदनशील और गहरी साहित्यिक अभिरूचि वाले व्यक्ति के तौर पर जाना है। आज सुबह-सुबह उन्हे हिरासत में लिये जाने की ख़बर आई तो … Continue reading विनोद वर्मा हिरासत में – Rakesh Kayasth

इस देश में दो तरह के लोग हैं – Himanshu Kumar

इस देश में दो तरह के लोग हैं एक वो जो पुलिस के पक्ष में हैं दूसरे वो जो पुलिस की मार खा रहे हैं एक वो हैं जो कड़ी मेहनत के काम करते हैं और भूखे सोते हैं दूसरे वो हैं जो मजे से आराम करते हैं लेकिन कार बंगले शॉपिंग मॉल के मजे लुटते हैं एक तरफ वो हैं जिनकी ज़मीन छीनने के … Continue reading इस देश में दो तरह के लोग हैं – Himanshu Kumar

भाजपा सरकार द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को दिए गए आश्वासन पूरी तरह धोखेबाज़ी है- Himanshu Kumar

छत्तीसगढ़ में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर हमलों को देखते हुए राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने छत्तीसगढ़ सरकार को फटकार लगाई है, छत्तीसगढ़ में 14 साल से भाजपा की सरकार है, इस सरकार ने लोगों के मानवाधिकार को कुचलने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है, सरकारी सिपाहियों के द्वारा जितनी बड़ी संख्या में आदिवासी महिलाओं से बलात्कार किए गए हैं, जितने निर्दोष लोगों की हत्या की गई, जितने … Continue reading भाजपा सरकार द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को दिए गए आश्वासन पूरी तरह धोखेबाज़ी है- Himanshu Kumar

झगड़ा किन के बीच है ? Himanshu Kumar

झगड़ा किन के बीच है दो वर्ग हैं एक जो बहुत मेहनत करता है लेकिन तकलीफ में जिंदगी गुजारता है दूसरा वह वर्ग है जो कड़ी मेहनत नहीं करता लेकिन मज़े में जिंदगी गुजारता है मेहनत किये बिना जो वर्ग मज़े में है वह गालियाँ देने में बिजी है इसे हम आरामखोर वर्ग कहेंगे यह आरामखोर वर्ग मजदूरों को गालियाँ देता है यह आरामखोर वर्ग … Continue reading झगड़ा किन के बीच है ? Himanshu Kumar

आपके पास असल में कुछ भी नहीं है. ना सब्जी ना गेहूं ना मछली ना दूध ना सोना ना हीरा – Himanshu Kumar

आप शहर में रहते हैं ! आप अमीर हैं. लेकिन ध्यान से देखिये आपके पास असल में कुछ भी नहीं है. ना सब्जी ना गेहूं ना मछली ना दूध ना सोना ना हीरा . आपके पास सिर्फ कागज का रुपया है .आपने कागज के रूपये खुद ही छाप लिये .इस कागज का एक काल्पनिक मूल्य है . जैसे कि एक सौ रूपये के बदले कितना … Continue reading आपके पास असल में कुछ भी नहीं है. ना सब्जी ना गेहूं ना मछली ना दूध ना सोना ना हीरा – Himanshu Kumar

न नक्सल, न पुलिस, हम जनता के साथ हैं: सोनी सोरी

In Conversation with Pranjal Rewa This interview was conducted in New Delhi on March 9, 2016. It is a collaborative effort between Communalism Combat, Newsclick and Hillele TV The battle of the gun fosters more conflict, never peace: Soni Sori Bandook ki ladhai se hamesha Ashaanti hogi, Shaanti Kabhi Nahin: Soni Sori We are neither with the Naxalites who have the guns nor with the … Continue reading न नक्सल, न पुलिस, हम जनता के साथ हैं: सोनी सोरी