रोहित वेमुला को दबाने के लिए JNU किया गया था. गुजरात को दबाने के लिए क्या होगा? – Dilip Mandal

निर्बल को न सताइये, जाकी मोटी हाय | मरे जीव के चाम से, लोह भस्म हो जाय || मेरे गुरु कबीर साहेब यह लिख गए हैं. आप पढ़ते नहीं तो गलती आपकी. अब भुगतिए. रोहित वेमुला को दबाने के लिए JNU किया गया था. गुजरात को दबाने के लिए क्या होगा? आप सब अनुभवी लोग हैं. अंदाजा लगाइए. मेरा सूत्र यह है कि जो भी … Continue reading रोहित वेमुला को दबाने के लिए JNU किया गया था. गुजरात को दबाने के लिए क्या होगा? – Dilip Mandal

अपना सिर कलम कर लेंगी, तो किसी के भी पैर पर कैसे रखेंगी – Dilip Mandal

  दो बातें. एक, अपना सिर कलम कर लेंगी, तो किसी के भी पैर पर कैसे रखेंगी. और दो, कोटे से बाहर जाकर किसी को एडमिशन देने का मतलब होता है किसी का हक मारना. कितने हजार बच्चों का हक मारा? जिनका एडमिशन नहीं हुआ है उन्हें चाहिए कि इस कबूलनामे के बाद, मनुस्मृति ईरानी को कोर्ट में घसीटें. बच्चों से हेराफेरी नहीं चलेगी.   … Continue reading अपना सिर कलम कर लेंगी, तो किसी के भी पैर पर कैसे रखेंगी – Dilip Mandal

आप कहते हैं कि यह देश बीमार नहीं है और कि यह मनोरोगियों का देश नहीं है? – Dilip Mandal

अमेरिका, 1964. अमेरिका की ब्लैक आबादी वोटिंग के अघिकार और भेदभाव के ख़ात्मे के लिए सिविल राइट्स आंदोलन कर रही है। भयानक दमन चल रहा है। श्वेत नस्लवादी समूह लगातार उनपर ख़ूनी हमले कर रहे हैं। लोग मारे जा रहे हैं। घर जलाए जा रहे हैं। इस आंदोलन का साथ देने के लिए लगभग 1,000 श्वेत युवक पढाई छोड़कर आंदोलन में कूद पड़ते हैं। श्वेत … Continue reading आप कहते हैं कि यह देश बीमार नहीं है और कि यह मनोरोगियों का देश नहीं है? – Dilip Mandal