मुझे बहुत दुःख होता है जब वो कहते है कि दिलीप साहब की हमने कोई फिल्म नहीं देखी- हंसल मेहता

      तीस्ता सेतलवाड :       कम्युनॅलिज़म कॉम्बैट की इस खास मुलाकात में आज एक खास मेहमान से बात करेंगे कुछ खास मुद्दों पर…मुद्दे रहेंगे अल्पसंख्यकों के बारे में…शाहिद फिल्म को लेकर और विस्थापित लोग जो गांव से शहर में आते हैं…सिटीलाइट्स फिल्म को लेकर।  आज हमारे साथ हैं खास मेहमान हंसल मेहता। मगर उसके पहले हम बात करेंगे खाने पकाने की और खाने की। … Continue reading मुझे बहुत दुःख होता है जब वो कहते है कि दिलीप साहब की हमने कोई फिल्म नहीं देखी- हंसल मेहता