फर्रुखाबाद की ट्रेन में मुस्लिम यात्रियों पर हमला एक बार फिर जुनैद काण्ड को दोहराने की कोशिश- रिहाई मंच

  पुलिस ने लचर विवेचना कर पहलू खान के हत्यारोपी को दिलवाई जमानत मोहसिन, अखलाक, अयूब और अब पहलू खान के हत्यारोपियों को जमानत से हत्यारों के हौसले होंगे बुलंद लखनऊ 14 जुलाई 2017। रिहाई मंच ने फर्रुखाबाद की एक ट्रेन में मुस्लिम यात्रियों पर हुए सांप्रदायिक हमले को एक बार फिर यूपी में जुनैद काण्ड को दोहराने की कोशिश करार दिया। मंच ने पहलू … Continue reading फर्रुखाबाद की ट्रेन में मुस्लिम यात्रियों पर हमला एक बार फिर जुनैद काण्ड को दोहराने की कोशिश- रिहाई मंच

Mutton, Beef and a man called Akhlaq – Anand Patwardhan

For all those who say, so what if the Dadri meat was beef, please get a reality check. We live in an india maddened by manufactured Hindutva hatred against Muslims. This is election season. The political gains from claiming it was beef are enormous.   In ancient India’s laboratories, an elephant head could be transplanted onto a human body. In Modi’s modern India laboratory certified … Continue reading Mutton, Beef and a man called Akhlaq – Anand Patwardhan

अख़लाक़ के फ्रिज में रखी थी रोहित की अस्थियां – Mayank Saxena

अख़लाक़ के फ्रिज में रखी थी रोहित की अस्थियां और उसकी फैलोशिप एक गाय के पेट में गाय का पेट था नागपुर की तिजोरी में और नागपुर है लिपटा गेरुए कपड़े में ख़ाकी धागे से बंधा आग लगती है तो सबसे पहले पानी डाला जाता है गेरुए कपड़े पर और भीग जाती है अंदर रखी गाय रोहित की अस्थियां और अख़लाक का फ्रिज दोनों को … Continue reading अख़लाक़ के फ्रिज में रखी थी रोहित की अस्थियां – Mayank Saxena

10 Filmmakers Returned Their National Award In Protest & Wrote To President And PM (Full Text)

After writers and scientists, filmmakers have joined the protest in raising their voice against the murders of rationalist author MM Kalburgi, activist Govind Pansare, and in support of FTII students. The 10 filmmakers include Anand Patwardhan, Dibakar Banerjee, Nishtha Jain, Paresh Kamdar, Kriti Nakhwa, Harshvardhan Kulkarni, Hari Nair, Rakesh Sharma, Indraneel Lahiri and Lipika Singh Darai. And here’s the full text of their letter to … Continue reading 10 Filmmakers Returned Their National Award In Protest & Wrote To President And PM (Full Text)

दादरी का अख़लाक़ – राजेश जोशी की कविता

“दादरी का अख़लाक़” हर हत्या के बाद ख़ामोश हो जाते हैं हत्यारे और उनके मित्रगण. उनके दाँतों के बीच फँसे रहते हैं ताज़ा माँस के गुलाबी रेशे, रक्त की कुछ बूँदें भी चिपकी होती हैं होंठों के आसपास, पर आँखें भावशून्य हो जाती हैं जैसे चकित सी होती हों धरती पर निश्चल पड़ी कुचली-नुची मृत मानव देह को देखकर हत्या के बाद हत्यारे भूल जाते … Continue reading दादरी का अख़लाक़ – राजेश जोशी की कविता