तीस्ता सेतलवाड़ के खिलाफ प्रचारित मिथक

मिथक 1 – तीस्ता सेतलवाड़ ने साम्प्रदायिक ताक़तों के खिलाफ लड़ाई 2002 में शुरु की।   तथ्य 1 – तीस्ता सेतलवाड़ और उनके पति जावेद आनंद ने अपनी पत्रिका, कम्युनलिज़्म कॉम्बेट 1992 में मुंबई दंगों के बाद शुरु की। 1992 में साम्प्रदायिक ताक़तों के खिलाफ उनकी मीडिया पक्षधरता की शुरुआत हुई। मिथक 2 – तीस्ता सेतलवाड़ ने सिर्फ गोधरा के बाद हुए दंगों के पीड़ितों के … Continue reading तीस्ता सेतलवाड़ के खिलाफ प्रचारित मिथक