Overlooking adult decisions about their lives & Treating daughters as repositories of your “honour” – Zeba Imam

A horrific daylight murder on a busy roadside, a few days back continues to trouble me as I hope it does many others. I need to write this in an effort to ease my own rage and sadness. Ankit, the 23 year old, seems so full of youthful energy that it makes you wince at the thought that this young man is no more, every … Continue reading Overlooking adult decisions about their lives & Treating daughters as repositories of your “honour” – Zeba Imam

Sticky post

#उड़ताउड़ेंद्रकेखत: डियर अमित, कैसे हो?

डियर अमित, कैसे हो? मालूम है आजकल काफी उलझे हो. मुझे तो खत की शुरूआत में ही ‘ताल’ का गाना याद आ गया.. जो तेरा हाल है वो मेरा हाल है…. तो समझ लो कि सिरदर्द मुझे भी बराबर है. कभी कोई हमारे खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देता है तो कभी हमें प्रेस कॉन्फ्रेंस करानी पड़ रही हैं. ये भी क्या ही ज़िंदगी है छोटे… … Continue reading #उड़ताउड़ेंद्रकेखत: डियर अमित, कैसे हो?

योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच

योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच दलितों के ऊपर हमला करने वालों को भाजपा सरकार का खुला संरक्षण- रिहाई मंच लखनऊ 10 जनवरी 2018. रिहाई मंच ने बलिया में दलित युवकों का सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्तियां बांधकर पिटते हुए पूरे क़स्बे में घुमाने की घटना को … Continue reading योगी राज में सर मुड़वाकर ‘मैं गाय चोर हूँ’ की तख्ती बांधकर घुमाया जा रहा है दलितों को – रिहाई मंच

सबने साथ-साथ खायी खिचड़ी. खान-पान के नाम पर भेद भाव के खिलाफ हम सब एक हैं

Lucknow   लखनऊ 14 जनवरी 2018. मकर संक्रांति के अवसर पर इंसानी बिरादरी, शोल्डर टू शोल्डर, आवाम मूवमेंट और मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी ने इंदिरा नगर सेक्टर सी में सबके साथ खिचड़ी का आयोजन किया. इंदिरानगर, मुंशी पुलिया व आस-पास के क्षेत्र वासियों समेत विभिन्न सामजिक-राजनीतिक संगठनों के लोगों ने साथ-साथ खिचड़ी खाई. शामिल लोगो ने कहा कि पूरे दुनिया में भारतीय समाज अपनी अनेकता में … Continue reading सबने साथ-साथ खायी खिचड़ी. खान-पान के नाम पर भेद भाव के खिलाफ हम सब एक हैं

मी लार्ड ! भगवान करे आपसे किसी का पाला ना पड़े..- Rakesh Kayasth

उन दिनों मैं एक बच्चा पत्रकार हुआ करता था। रिपोर्टर के तौर पर मेरे पास जो बीट्स थी, उनमें MRTP commission भी शामिल था। अंग्रेजी में monopolies and restrictive trade practices commission, हिंदी नाम— प्रतिबंधित और एकाधिकार व्यापार व्यवहार आयोग। कमीशन का दफ्तर दिल्ली के शाहजहां रोड पर था, जहां उसकी अपनी अदालत लगती थी। विधिसम्मत आचरण ना करने वाली कंपनियों के खिलाफ मुकदमे चलते … Continue reading मी लार्ड ! भगवान करे आपसे किसी का पाला ना पड़े..- Rakesh Kayasth