इस्लाम (मुसलमान) को किससे ख़तरा है ? – Shakil Khan

इस्लाम (मुसलमान) को किससे ख़तरा है ? क्या ग़रीबी से ? क्या आशिक्षा से ? क्या राजनीतिक हिस्सेदारी में कमी से ? क्या प्रशासन में उनकी उपेक्षा से ? पुलिस उत्पीड़न से ? बढ़ती बहुसंख्यक संप्रदायिकता से ? नही साहब बिलकुल नही ख़तरे उससे भी बड़े हैं सानिया मिर्ज़ा की मिनी स्कर्ट शमी की पत्नी के फ़ोटो इरफ़ान की वाइफ़ की नेल पोलिश रहमान का … Continue reading इस्लाम (मुसलमान) को किससे ख़तरा है ? – Shakil Khan

Reading the Communist Manifesto today

Ben Hillier examines the continuing relevance of Marx and Engels’ Communist Manifesto, in an article written for the Australian socialist newspaper Red Flag. Karl Marx and Frederick Engels WHY READ the Communist Manifesto of 1848? It was written 30 years before the invention of the telephone, at a time when half of English children didn’t live to see their fifth birthday. The pamphlet was commissioned … Continue reading Reading the Communist Manifesto today

Gujarat 2002: Modi Supported the VHP during the Riots to get Hindu Votes, says Former Home Secretary

Gujarat Files: Anatomy of a Cover-Up is a racy political memoir by Rana Ayub. In it she reminisces about her undercover reporting in Modi’s Gujarat in this book. Rana Ayyub, formerly with Tehelka, posed as  ‘Maithili Tyagi’, a USA-born filmmaker and interviewed key figures in the state, including senior police officers. Tehelka’s first such sting by Ashish Khetan, Operation Kalank, has been used as valuable evidence … Continue reading Gujarat 2002: Modi Supported the VHP during the Riots to get Hindu Votes, says Former Home Secretary

किसी झूठ को सौ बार कहने से वह सच नहीं हो जाता ! -किशोर

लेखकों, फिल्मकारों, और वैज्ञानिकों द्वारा पुरुस्कार लौटाने का गैरजरूरी विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि भक्तों और मीडिया ने एक और विवाद खड़ा कर दिया. सबसे पहले तो मैं आमिर खान को मुबारकबाद देना चाहूँगा कि उन्होंने आज के हालात पर सोचा और उसे व्यक्त भी किया. वह चाहते तो चुप भी रह सकते थे पर उन्होंने बोला ! आज जब कुछ बोलना … Continue reading किसी झूठ को सौ बार कहने से वह सच नहीं हो जाता ! -किशोर

निशाने पर सहिष्णुता नहीं संविधान है ! – Pankaj Srivastava

    आमिर ने आख़िर क्या कहा, जो ऐसा हंगामा बरपा है? यही न, कि उनकी पत्नी ने हालात से तंग आकर उनसे देश छोड़ने की बात छेड़ी। कहा कि अख़बार देखकर डर लगता है। आमिर ने तो बस इसकी जानकारी दी, वह भी इसे ‘डिज़ास्टरस’ (विनाशकारी) बताते हुए । अगर दिक़्क़त है तो आमिर के नहीं उस किरण के बारे में सोचो जो उदास … Continue reading निशाने पर सहिष्णुता नहीं संविधान है ! – Pankaj Srivastava

P.M. Bhargava sends back Padma Bhushan award to President

Founder-director of Centre for Cellular and Molecular Biology (CCMB) P.M. Bhargava has returned his Padma Bhushan to Presdient. This award has been very dear to me. My returning it to you, for whom I have much respect and admiration, is an expression of my concern at the currently prevailing socio-politico situation in the country, said Mr. Bhargava. Well-known scientist and founder-director of Centre for Cellular … Continue reading P.M. Bhargava sends back Padma Bhushan award to President