Sticky post

भंगी का उद्भव : कब और कैसे? -कँवल भारती

प्रोफेसर श्यामलाल की पुस्तक ‘Ambedkar and The Bhangis’ से भंगी का उद्भव : कब और कैसे? ‘The Bhangi : The Lowest of the Low Untouchable Castes’ शीर्षक पहले अध्याय में प्रोफेसर श्याम लाल ने भारत के अलग-अलग प्रान्तों में मैला उठाने वाले लोगों को किन-किन नामों से जाना जाता है, इसका वर्णन करते हुए यह पता लगाने की कोशिश की है कि वे भंगी कैसे … Continue reading भंगी का उद्भव : कब और कैसे? -कँवल भारती

सार्वजनिक संस्थाओं को बेचने पर आमादा सरकारों से पूछा जाना चाहिए कि वो हैं किस लिए ? सिर्फ दलाली खाने के लिए? – Rakesh Kayasth

सरकारी तंत्र यानी नकारापन। प्राइवेट सेक्टर यानी अच्छी सर्विस और एकांउटिबिलिटी। यह एक आम धारणा है, जो लगभग हर भारतीय के मन में बैठी हुई है या यूं कहे बैठा दी गई है। लेकिन यह धारणा हर दिन खंडित होती है। किस तरह उसकी एक छोटी केस स्टडी आपके सामने रख रहा हूं। मेरे पड़ोसी ने एक ऐसे प्राइवेट बैंक से होम लोन लिया था, … Continue reading सार्वजनिक संस्थाओं को बेचने पर आमादा सरकारों से पूछा जाना चाहिए कि वो हैं किस लिए ? सिर्फ दलाली खाने के लिए? – Rakesh Kayasth

No cap on corporate funds to parties, suggest a way out, Govt tells Opposition

Parliament Thursday approved the Finance Bill, rejecting five amendments proposed a day earlier by Rajya Sabha on curtailing more powers to taxmen and capping corporate donations to political parties. The amendments, forced by the Opposition in Rajya Sabha where the government lacked majority, were negated by Lok Sabha and the Bill passed, completing the budgetary exercise for 2017-18. Defending the government’s stand to reject the … Continue reading No cap on corporate funds to parties, suggest a way out, Govt tells Opposition

अवैध स्लाटर हाउस बंद कराने के नाम पर साम्प्रदायिक जेहनियत के तहत छोटे- छोटे दुकानदारों की रोजी- रोटी छिनने रही है सरकार.

एंटी रोमियो स्क्वाड के नाम पर मोरल पुलिसिंग करके सामंतवाद और जातिवाद को बढावा दे रही है सरकार – रिहाई मंच मनुवादी नही चाहते हैं की समाज से जातिवाद ख़त्म हो- मंच अवैध स्लाटर हाउस बंद कराने के नाम पर साम्प्रदायिक जेहनियत के तहत छोटे- छोटे दुकानदारों की रोजी- रोटी छिनने रही है सरकार.   23 मार्च 2017 लखनऊ. रिहाई मंच ने  आरोप लगाया है … Continue reading अवैध स्लाटर हाउस बंद कराने के नाम पर साम्प्रदायिक जेहनियत के तहत छोटे- छोटे दुकानदारों की रोजी- रोटी छिनने रही है सरकार.

Kobad Ghandy acquitted of charges registered by the Patiala Police

Kobad Ghandy, Maoist political prisoner, was acquitted today by the court of Additional District and Sessions Judge Mohammad Gulzar in Patiala Punjab of all charges in the case registered against him by the Patiala police in 2010 for allegedly delivering anti-national speeches on the Punjabi University campus. Ghandy had been booked under the Sections 10, 13, 18 and 20 of the Unlawful Activities Prevention Act … Continue reading Kobad Ghandy acquitted of charges registered by the Patiala Police