दलित ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता नवदीप कौर की रिहाई के लिए CJP ने दायर की ऑनलाइन याचिका


23 वर्षीय नवदीप कौर करीब एक महीने से करनाल जेल में हैं और उनके परिवार ने आरोप लगाया है कि उनके साथ हिरासत में मारपीट भी की गई थी, उसी जेल में जिसमें उन्हें फिलहाल रखा गया है। CJP ने अब ऑनलाइन याचिका दायर कर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट  में ऑनलाइन के मुख्य न्यायाधीश रवि शंकर झा से गुहार लगाई है कि वे नवदीप कौर को न्याय दिलाना सुनिश्चित करें।

हमारी याचिका में यह बताया गया है कि नवदीप कौर पर कैसे करनाल जेल में कथित रूप से हमला किया गया था। उन्हें जिला अदालत ने जमानत नहीं दी है। नवदीप की बहन राजवीर कौर ने कहा है कि वे जल्द ही हाई कोर्ट जाएंगे। CJP की याचिका न केवल उनकी तत्काल रिहाई की मांग करती है, बल्कि यह भी है कि उनके खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों को हटा दिया जाए।

CJP ने याचिका पर हस्ताक्षर करने वालों से भी आग्रह किया है कि वे करनाल जेल अधिकारियों को लिखें और कौर के खिलाफ अत्याचार का विरोध करें। एक दलित, ट्रेड यूनियन एक्टिविस्ट, नवदीप कौर पंजाब की रहने वाली हैं और वे मज़दूर अधिनायक संगठन (एमएएस) से जुड़ी हैं। वह दिसंबर 2020 से सिंघु बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन में भाग ले रही थीं। 12 जनवरी 2021 को हरियाणा पुलिस ने उसके डेरे पर आकर नवदीप को गिरफ्तार कर लिया।

नवदीप कौर किसानों के साथ एकजुटता में कुंडली औद्योगिक क्षेत्र के कारखाने के श्रमिकों के एक समूह के साथ सिंघु के शांतिपूर्ण विरोध स्थल पर बैठी थीं। श्रमिकों को भी किसानों की तरह ही समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, और आरोप लगाया है कि नियोक्ताओं द्वारा उनका शोषण किया गया है, उनका वेतन रोक दिया गया है, और रोजगार छीन लिए गए हैं। यह तब से बढ़ा है जबसे उन्होंने किसान आंदोलन का समर्थन करना शुरू किया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि उन्हें कुंडली औद्योगिक संघ और हरियाणा पुलिस के सशस्त्र गार्डों ने निशाना बनाया है।

“किसान और मजदूर जुड़े हुए हैं, एक खेतों में उपजाता है, दूसरा कारखानों में। दोनों का शोषण हो रहा है। यह केवल किसानों का संघर्ष नहीं है, यह हम सभी के लिए एक एकजुट संघर्ष है।” नवदीप कौर ने एक वीडियो में कहा था जो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया गया था, “किसानों और मजदूरों की समान मांगें हैं और हम किसान मजदूर विरोधी कानूनों को निरस्त कराना चाहते हैं।”

उनकी बहन राजवीर कौर, नवदीप के लिए आवाज उठा रही हैं। राजवीर ने आरोप लगाया है कि हरियाणा पुलिस ने नवदीप को निशाना बनाया और उसे हिरासत में लेकर हमला किया, जिसमें यौन हमला भी शामिल था। वह कहती हैं कि नवदीप को लक्षित करना किसानों और श्रमिकों के आंदोलन को बदनाम करने के लिए राज्य के प्रयासों का एक और उदाहरण है। उनका उद्देश्य श्रमिक यूनियनों के साथ मिलकर एकजुटता को तोड़ना है। वे कहती हैं, ”नवदीप साथी श्रमिकों के अधिकारों के लिए काम करती हैं। उन्होंने 12 वीं कक्षा के बाद काम करना शुरू कर दिया था। हमारी मां पंजाब खेत यूनियन की कार्यकर्ता हैं, और मुक्तसर में रहती हैं। जब भी हमें लगता है कि कुछ गलत हो रहा है, हम एक परिवार के रूप में हमेशा खड़े रहते हैं।” राजवीर वर्तमान में एकमात्र व्यक्ति हैं जो करनाल जेल में नवदीप से मिली हैं।

पुरुष पुलिस अधिकारियों द्वारा कथित हमले के बारे में नवदीप द्वारा उसे बताया गया था। नवदीप उसी जेल में हैं, और उनकी जमानत याचिका को हरियाणा की एक अदालत ने खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि नवदीप के खिलाफ आरोप प्रकृति में गंभीर हैं, “जांच अभी भी प्रारंभिक चरण में है और शेष आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। अपराध की गंभीरता के मद्देनजर, आवेदक जमानत की रियायत के लायक नहीं है और जमानत अर्जी खारिज कर दी जाती है।” आदेश में कहा गया है, उसने अपने साथ मौजूद भीड़ को उकसाया, जिसने पुलिस अधिकारियों पर हमला शुरू किया।

नवदीप को दो एफआईआर का सामना करना पड़ा है: 28 दिसंबर 2020 को पुलिस स्टेशन कुंडली में 649 के अंतर्गत IPC धारा 148, 149, 323, 384, 506 और एफआईआर दिनांक 12.01.2021 को नंबर 26  के तहत धारा 148, 149, 323, 384, 452, 506 IPC पुलिस स्टेशन कुंडली, सोनीपत। इन आरोपों में उनपर जबरन वसूली, दंगा करने, हथियारबंद, गैरकानूनी सभा करने, पब्लिक सर्वेंट पर हमला करने, जबरन वसूली, डराने-धमकाने और हत्या के प्रयास का आरोप लगाया गया है। उनकी बहन ने कहा कि ये “सभी झूठे आरोप हैं, उन्हें फंसाया जा रहा है” क्योंकि वह श्रमिक संघों का हिस्सा हैं, मजदूरों के अधिकारों के लिए काम करती हैं, “वह किसान आंदोलन के समर्थन में 1,500 से अधिक मजदूरों को साथ लाने में सक्रिय रही थीं।”

साभार : सबरंग

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s