Breaking : Deepak Kabir, Advocate Shoeb and former IG SR Darapuri tortured in Lucknow jail for peaceful protests against #CAA

A Hillele Staff report

Deepak Kabir was part of a peaceful protest in Lucknow, state capital of Uttar Pradesh (the largest province in India) on the 19th of December 2019. On the 20th of December Deepak visited the Hazratganj Police Station to find out about some missing people (civil rights activists, advocates and former senior IPS officer). He asked the investigating officer whether some of the protesters against #CAA had been detained/ arrested and on what grounds. The UP Police was reportedly livid with such humanitarian questions and decided to detain Deepak Kabir. He was mercilessly beaten by the Police.

The Former IG and a very respected IPS officer SR Darapuri and senior advocate and human rights activist Md Shoeib were house arrested on the 20th of December and later arrested by UP Police on the 21st of December. Both the concerned citizens of Lucknow were beaten up by Police officers.

For several hours family members and friends of Md Shoeib, SR Darapuri and Deepak Kabir didn’t know the status of these people. They were clueless about whether they were detained or arrested.

Deepak Kabir is a well knowm theater personality from Lucknow. He is also behind secular initiatives like Lucknow’s Kabir Festival. Advocate Shoeib is an old socialist from Lucknow who has spearheaded the initiative of Rihai Manch, a platform that takes up legal cases of poor Muslim youth who are often harassed by UP Police with fake cases. People in Lucknow are in a state of shock with these arrests.

19 दिसंबर के प्रतिरोध में दीपक कबीर अपने संविधान में दिए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और असहमत व्यक्त करने के आधिकार के साथ मौजूद था , यह पुलिस , liu और प्रशासन को भी मालूम है कि हिंसा में शामिल होना तो दूर उसके समर्थन तक में दीपक कबीर न शामिल था और न कभी हो सकता है ।

20 दिसंबर को Advocate शोएब और पूर्व आई. जी. एस. आर. दारापुरी को पहले हाउस अरेस्ट किया . 20 को पूरा दिन थाने में रखा फिर 21 दिसंबर को जेल भेजा. जैसा जेल में उनसे मिलकर लौटने वाले बता रहे हैं कि उन्हें भी बहुत मारा गया. रोबिन वर्मा जो हिन्दू के रिपोर्टर के साथ bjp आफिस के बाहर चाय पीते हुए पकड़ा गया वो तो 19 तारीख को सिविल डिफेंस में लगा था जैसा उसकी फेसबुक स्टेटस से पता चलता है .

20 दिसंबर को दीपक कबीर थाने खुद पता करने गया कि नागरिक समाज और अन्य प्रगतिशील लोगों को क्यों गिरफ्तार किया जा रहा है , लेकिन हिंसा रोकने में नाकाम रही पुलिस अब तमाम निर्दोषों को जबरन फंसा कर अपनी खीज मिटा रही थी तो उसके लिए दीपक कबीर के शब्द चिढ़ाने वाले थे तो उसके सवालों का जवाब देने की जगह उसको ही फर्जी तरीक़े से फंसा दिया गया ।

Deepak Kabir in centre in blue t-shirt and cap

लखनऊ शहर हमेशा से अपनी विशेष सांस्कृतिक पहचान के लिए जाना जाता रहा है तो उसके साथ साथ जन प्रतिरोध की आवाज़ के लिये भी प्रसिद्ध रहा है । लखनऊ के इन दोनों रवायतों को अपने में समाए चलता आ रहा है – दीपक मिश्र उर्फ कबीर
अपनी स्टूडेंट लाइफ से ही बेहतरीन लेखन और रंगमंच से जुड़ाव । लखनऊ यूनिवर्सिटी के अंदर होने वाले सभी कल्चरल फेस्टिवल का केंद्र रहा करता था दीपक । लखनऊ यूनिवर्सिटी की टीम बनाकर नार्थ जोन युथ फेस्टिवल में अमृस्टसर पटियाला से शुरू हुआ सफर कभी रुका नही ।


यूनिवर्सिटी के बाद दस्तक मंच के माध्यम से शहर भर की युवा प्रतिभायों की मंच प्रदान करना और अब इस दौर में लखनऊ के अन्दर कबीर फेस्टिवल आयोजित करने तक का यह सफर ज़ारी है । लखनऊ शहर के अंदर कोई भी ऐसी साहित्यिक -सांस्कृतिक इवेंट नही होगी जिसमें दीपक किसी न किसी तरह शामिल न हो ।


साहित्यिक और सांस्कृतिक मोर्चे के अलावा दीपक नाम है हर तरह के भेदभाव , गैरबराबरी और नइंसाफ के खिलाफ होने वाले हर हर प्रतिरोध का । पिछले तीन दशक में कितने की सवालों पर नागरिक समाज और राजनैतिक पार्टियों के साथ प्रतिरोध में दीपक एक अहम किरदार रहा है । दीपक जिसने हमेशा सबके दुख में आगे बढ़कर हाथ आगे किया ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s