#उड़ताउड़ेंद्रकेखत: डियर अमित, कैसे हो?

डियर अमित,
कैसे हो?
मालूम है आजकल काफी उलझे हो. मुझे तो खत की शुरूआत में ही ‘ताल’ का गाना याद आ गया.. जो तेरा हाल है वो मेरा हाल है…. तो समझ लो कि सिरदर्द मुझे भी बराबर है.
कभी कोई हमारे खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देता है तो कभी हमें प्रेस कॉन्फ्रेंस करानी पड़ रही हैं. ये भी क्या ही ज़िंदगी है छोटे…
उधर वो छह दिन की छुट्टी लेकर नेतन वाऊ आ गया. बीवी को संग लाया है. थोड़ा बहुत चलता है लेकिन साथ में कहां तक घूमता फिरूं. भारत दर्शन कर रहा है. मुझे लोकल में घूमने में अब मज़ा नहीं आता इसीलिए आगरा में भोगी जी को साथ भेज दिया.

Modi charkha.jpg
आजकल नागपुर से भी फोन आ रहे हैं. कह रहे हैं कि अहमदाबाद में जो रो रहा है वो बच्चा अपना ही है.. सुलह कर लो. दिल्ली में चार काले कोट वाले भी हैं उनसे भी कहा जा रहा है सुलह कर लो. सखा अमित, इतनी मेहनत से हम प्रधानचच्चा इसीलिए बने थे क्या कि सबसे सुलह करते फिरें.. कोई इज्ज़त है कि नहीं यार? इससे तो अच्छे अपने घर ही थे.. जब जी किया किसी का भी संजय जोशी कर दिया. हर किसी को जैसे बस मुझसे ही शिकायत है. ये 2014 से पहले कहां थे?

Four Judges.JPG
टेंशन कम नहीं है. हम गुजरात मैच में नर्वस नाइंटीज़ के शिकार क्या हुए उस पोगो फैन का हौसला बढ़ गया. बताओ बहरीन तक जाकर घर की बात बता रहा है. मेरी बात अलग है छोटे.. मैं प्रधानचच्चा हूं.


खैर, इस बीच यही अच्छा हुआ कि अब सांसदों की गुड मॉर्निंग रेगुलर आ रही है. जब तक डंडा ना करो कोई सुनता ही नहीं. डायरी में लिखता जा रहा हूं. सारों का टिकट काटूंगा. तुम कर्नाटक वर्नाटक निपटा लो ठीक से. देखो दादरी-मुज़फ्फरनगर टाइप कुछ हो सके तो. मालूम है मुझे भोगी को लगाए हो लेकिन उसका भी कुछ भरोसा नहीं ना. जब देखो पुताई के लिए ऑरेंज कलर में शेड्स गूगल करता रहता है. पता करो यार किसने इसे मुख्य चच्चा बनाने की सलाह दी थी?

UP Haj Committee
इतने बिज़ी चल रहे हैं कि ढंग की कोई फिल्म भी नहीं देखी. करनी भरनी से छुटकारा पाकर वो दीपिका वाली फिल्म आए तो साथ में देखेंगे. तुम भी तब तक उस चार साल पुराने वाले पाप से पीछा छुड़ा लो.


छोटे शाह का बिज़नेस कैसा चल रहा है बताना. छोटे डोभाल ने भी पार्टी ज्वाइन कर ली है. हमने कहा कि जब सभी को सारा पता ही है तो खुलकर खेल लो. अभी तो डेढ़ साल हम हैं ही तब तक सारे छोटे मौज लो.


हां, जब आओ तो शर्त में जीते हुए मेरे हज़ार रुपए लेते आना. बिग बॉस में शिल्पा जीत गई. तुम्हारा गुप्ता हार गया. मैंने कहा ही था कि एक्टर हमेशा जीतता है.. मुझे ही देख लो.. हे हे हे.


चलो अब खत बंद करता हूं. बाकी बातें वॉट्सएप करता हूं. सरदी में हाथों का इस्तेमाल करने से बच ही रहा हूं. बस तुम्हारी मुहब्बत में खत लिख दिया.
तुम्हारा मोटा भाई
उड़ता उड़ेंद्र
#उड़ताउड़ेंद्रकेखत

 

Courtesy: Nitin Thakur

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s