बस्सी कहां हैं? बाइट लाओ रे ज़ी न्यूज़।- Dilip Khan

राजनाथ सिंह ने हाफ़िज सईद का फर्जी ट्वीट दिखा कर देश में चार दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। अर्णब गोस्वामी, दीपक चौरसिया, सुधीर चौधरी, रोहित सरदाना ने स्टूडियो में दो मिनट का शोक जताया. बस्सी निक्कर के ऊपर तौलिया लपेटकर गंगा स्नान को गया है।

लेकिन ज्ञानदेव आहूजा हमेशा की तरह कांडोम गिन रहा है।
#JNU

सुधीर चौधरी ने असम चुनाव में बीजेपी की जीत को JNU से जोड़ दिया था, अब JNU में ABVP की हार को वह चाहे तो निकारागुआ से जोड़ सकता है।

बापसा और लेफ़्ट यूनिटी की तरफ़ से एक-दूसरे की आलोचना में उठाए गए मुद्दों से चार दर्जन असहमतियां हैं। दोनों को आत्ममंथन की दरकार है। अकड़ और हेठी कम कीजिए.

(मैं चार दिनों से इस पर लंबा लिखना चाह रहा हूं। टूटे हाथ के चलते हो नहीं पा रहा।)

क़ायदे से  अब सारे टीवी वालों को JNU डिसकस करना चाहिए, लेकिन वो DU करेंगे या फिर दोनों को फेंट देंगे। सात महीने पहले जब टीवी स्टूडियो से JNU में सारे हवादार कच्छे वाले बम गिरा रहे थे, तो राष्ट्रवाद का शोरूम बहुत चमक रहा था। अब रिज़ल्ट पर चार दिन तो चर्चा करनी ही चाहिए कि कैसे JNU वालों ने ABVP की दुर्गति कर देश को ख़तरे में डाला है! क्या कहते हैं पंडिज्जी?

तीसरा नंबर पाने के लिए संघ के फुल पैंट गिरोह ABVP ने पूरी ताक़त झोंक दी है। 😉
#JNU

Vice President पर तो ABVP से ज़्यादा Nota को वोट है। 😉
भौत ग़लत है। सरासर राष्ट्रद्रोह है।
#JNU

संस्कृत न होती तो ABVP का क्या होता! एके गो आया है न जी अब तक? काउंसलर भी नहीं बनने दे रहे हैं लोग। बताइए इससे बड़ा राष्ट्रद्रोह क्या होगा?
#JNU

Coutesy: Dilip Khan

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s